संघ की इफ्तार दावत जामिया में फलोप – छात्रों का विरोध प्रदर्शन

1294

नई दिल्ली :
जामिया मिलिया इस्लामिया के बाहर विश्वविद्यालय प्रशासन, आरएसएस और मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के अध्यक्ष इंद्रेश कुमार के ख़िलाफ जमकर नारेबाज़ी की। ‘इंद्रेश कुमार वापस जाओ…बम धमाकों के आरोपी वापस जाओ…’ के नारे लगते रहे। कारण ये था के मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने आज इफ्तार की दावत जामिया मिलिया इस्लामिया के भोपाल ग्राउंड में दी थी
गौरतलब है कि इंद्रेश कुमार का नाम मालेगांव और अजमेर बम धमाकों में आता रहा है। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच आरएसएस का ही अकलियती सेल है, जिसका दावा है कि वह मुसलमानों के बीच काम करता है।Image may contain: 2 people, crowd and outdoor

पूरी दिल्ली में मुसलमानों की सबसे बड़ी आबादी ओखला और जामिया के आसपास रहती है। इसलिए इस विश्वविद्यालय में आरएसएस की सहयोगी शाखा मुस्लिम राष्ट्रीय मंच द्वारा इफ़्तार के आयोजन के पूरी तरह से राजनीतिक मायने हैं। और यह दिखाने की क़वायद है कि मुसलमानों में उनकी मौजूदगी है।
प्रदर्शनकारियों के अनुसार इफ़्तार का आयोजन गेट नंबर दो के अंदर वाले ऑडिटोरियम में किया गया था। इफ़्तार में बहुत कम लोग मौजूद थे। विश्विद्यालय प्रशासन से कोई नामी शख्सियत नहीं पहुंची। शिरक़त करने वालों में ज़्यादातर लोग मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के ही थे। चाहे वह भाषण देने वाले हों चाहे इफ़्तार करने वाले।Image may contain: 5 people

इसी दौरान, उधर बाहर जामिया छात्रों का प्रदर्शन जारी रहा। जनता दल यूनाइटेड के नेता सर्वर इक़बाल खान ने कहा बम ब्लास्ट का आरोपी जिस ने आतंकवाद और देश को नुकसान पहुँचाने का काम कर रहा है उसे किसी यूनिवर्सिटी में आने नहीं दिया जाना चाहिए। जामिया के गेट पर भारी पुलिस दल तैनात था। जामिया को एक प्रकार से छावनी बना दिया गया। कुछ छात्रों पर पुलिसिया डंडा भी बरसा। उधर बाहर छात्र नारे लगा रहे थे इधर अंदर इंद्रेश कुमार बोल रहे थे कि इन्हें शैतान न कहें, अल्लाह इनपर रहमत करे। हमेशा की तरह इंद्रेश कुमार ने इस्लाम को खूबसूरत बनाने और दीन पर चलने की नसीहत दी।
प्रदर्शन करने वालों में जमशीद अहमद , सरवर इक़बाल खान , इमरान क्रांति , मिरान हैदर , शाहनवाज़ , हारिश , आरिफ रज़ा खान , सैफी खान आदि लोग मौजूद थे