केजरीवाल और उपराज्यपाल में फिर टकराव का दौर, ‘आप’ के 40 से अधिक विधायक 7 घंटे तक डटे रहे एलजी निवास में

59

नई दिल्ली: दिल्ली में आम आदमी पार्टी सरकार और उपराज्यपाल अनिल बैजल के बीच टकराव का बुधवार को एक नया नमूना देखने को मिला. आम आदमी पार्टी के 40 से अधिक विधायक उपराज्यपाल अनिल बैजल के निवास पर पहुंचे और मोहल्ला क्लीनिक से जुड़े फाइल को मंजूरी दिए जाने की मांग करते हुए वहां देर शाम तक डेरा डाले रखा. ये विधायक वहां करीब 7 घंटे तक जमे रहे. इसके बाद आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया. उपराज्यपाल कार्यालय ने दावा किया कि उसके पास मुहल्ला क्लीनिक के बारे में कोई प्रस्ताव या फाइल लंबित नहीं है.

उधर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कार्यालय की ओर से कहा गया कि मंजूरी के लिए फाइल उपराज्यपाल कार्यालय के पास भेजी गई थी. केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘मोहल्ला क्लीनिक पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. यह दो करोड़ दिल्ली वासियों के स्वास्थ्य से जुड़ा मामला है. उप राज्यपाल को इससे संबंधित फाइलों को जल्द से जल्द मंजूरी दे देनी चाहिए.’ केजरीवाल ने अगले ट्वीट में लिखा, ‘देरी के कारण नागरिकों को परेशानी सहनी पड़ रही है. उप राज्यपाल को सभी संबंधित अधिकारियों से बात करनी चाहिए और बाधा को दूर करना चाहिए. अगर उप राज्यपाल चाहें तो मैं अपने मंत्रियों के साथ राज निवास आने के लिए तैयार हूं.’

उपराज्यपाल कार्यालय ने एक बयान में कहा कि आप विधायक सौरभ भारद्वाज और चार अन्य विधायकों को मिलने के लिए समय दिया गया था, लेकिन भारद्वाज के नेतृत्व में करीब 45 विधायक राज निवास के समक्ष आ गए और बैजल से मिलने की मांग करने लगे. इसमें कहा गया है कि व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद उपराज्यपाल विधायकों से मिलने को सहमत हो गए.