लालू ने नीतीश और सुशील मोदी पर जमकर साधा निशाना, कहा-जेल जाने के डर से बीजेपी की शरण में चले गए

64

भागलपुर: राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने रविवार को भागलपुर में आयोजित रैली से नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सृजन घोटाले में जेल जाने के डर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार महागठबंधन तोड़कर बीजेपी की शरण में चले गए. लालू यादव भागलपुर की सैंडिस ग्राउंड में सृजन घोटाले पर आयोजित  रैली को संबोधित कर रहे थे.

दबाव में थामा बीजेपी का दामन
लालू यादव ने कहा कि दिल्ली में बीजेपी को इस घोटाले का अंदाजा हो गया था और एक अलिखित धमकी भरा संदेश नीतीश कुमार को दिया गया कि जेल जाना पड़ सकता हैं. जिसके दबाव में नीतीश कुमार बीजेपी की शरण में चले गए. लालू ने दावा किया कि अगर वह न होते तब बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह नीतीश कुमार को पान की तरह चबा कर थूक देते. लालू ने कहा कि नीतीश कुमार को कुर्सी का इतना प्रेम है कि वह मुख्यमंत्री की कुर्सी पर ही मरना चाहते हैं. हालांकि इस रैली में लालू यादव ने राजनीतिक मर्यादा तोड़ते हुए नीतीश कुमार को लेकर कुछ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल भी किया.

ज्यादा भीड़ नहीं जुटी
इससे पहले उनके बेटे तेजप्रताप यादव ने अपने भाषण में नीतीश कुमार को एक गर्भवती महिला की तरह बता दिया था. राजद की इस रैली में हालांकि पिछले कई दिनों की तैयारी के बाबजूद बहुत ज्यादा भीड़ नहीं जुटी, लेकिन लालू ने अपने मामलों और राजनीतिक विरोधी बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. लालू ने आरोप लगाया कि इस रैली को भी बाधित करने का प्रयास किया गया. सीबीआई का इस्तेमाल किया गया. कल मुझे दिल्ली में समन भेजा गया, लेकिन मैंने कहा कि उन्होंने सीबीआई को पत्र लिखकर कहा की भागलपुर में महाघोटाला हुआ हैं. रांची में भी मेरी तरफ से गवाही हो रही हैं. 20 साल 25 साल से मुक़दमा मुक़दमा मुक़दमा हमको आदत हो गई है.

तेजस्वी आज न कल सीएम जरूर बनेगा
लालू यादव ने तेजस्वी यादव के खिलाफ मामलों पर भी बोलते हुए कहा की हमारे बाल-बच्चों में तेजस्वी आगे बढ़ रहा हैं. उसने विधानसभा में नीतीश और सुशील मोदी को निरुत्तर कर दिया. नीतीश कुमार का माथा खनकने लगा. आज न कल ये मुख्यमंत्री बन जाएगा. इसलिए उसे फंसाया जा रहा हैं. लालू ने दावा किया कि जनता के आशीर्वाद से तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री बनेगा.

मंगलवार को पूरे राज्य में राजद का धरना
सृजन घोटाले के नाम पर आयोजित इस रैली में लालू यादव ने कोई नया खुलासा नहीं किया. उन्होंने सीबीआई के अधिकारियो से कई आग्रह किए. जिसमें सृजन घोटाले के पैसे का जहां-जहां निवेश हुआ खासकर बीजेपी सांसद, निशिकांत दुबे की जमीन पर बन रहे मॉल को जल्द से जल्द जब्त करवाने की बात कही.

लालू यादव ने कहा कि सीबीआई के अफसर जरूर यहां होंगे. उन्होंने पूछा की आखिर नीतीश कुमार के खिलाफ अभी तक एफआईआर क्यों नहीं हुआ. रैली में सृजन के अलावा, लालू ने कई और मुद्दों को भी छेड़ा, जिनके बारे में पटना के गांधी मैदान में वह बोल चुके थे. उन्होंने यह भी घोषणा किया कि मंगलवार को उनकी पार्टी द्वारा पूरे राज्य में सृजन घोटाले पर धरना का आयोजन किया जाएगा.