AAJMI Poll : जामिया विश्वविद्यालय पूर्व छात्र संघ का चुनाव 11 फरवरी को

80

जामिया विश्वविद्यालय पूर्व छात्र संघ (AAJMI) चुनाव के नामांकन का पर्चा भरा जा चूका है नाम वापिस लेने कि अंतिम तिथि 6 फरवरी है और चुनाव 11 फरवरी को है कई पूर्व छात्र अपना भाग्य आज़मा रहे है अध्यक्ष पद पर 5 लोग मैदान में हैं जिन में जामिया विश्वविद्यालय पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष बद्रउद्दीन कुरैशी,शफाउर रहमान, अख़लाक़ अहमद खान मोहम्मद अफजल, और ज़फर इमाम हैं वहीं सचिव पद के लिए 7 है जिन में मोहम्मद सगीर नजम, बदरे आलम , आतिफ प्रवेज़, मोहम्मद एहतेशाम खान, निशात अहमद खान, साबिर अली और सैयद मशहूद अहमद शामिल हैं
प्रत्याशी जनसंपर्क कर रहे हैं और सब अपनी जीत कि दावेदार कर रहे हैं सचिव पद के उम्मीदवार सगीर नजम उर्फ डा गुड्डू भी एक हैं
डा. गुड्डू ने जामिया विश्वविद्यालय से तिन विषयों में मास्टर डिगरी हासिल किया है सिविल सेवा कि तैयारी कर रहे थे मगर इस में कामयाबी नही मिली तो बिहार के दरभंगा जिला के सकरी मे एक टीचर ट्रेनिंग कालेज चला रहे हैं और दिल्ली में एक कुड़ा हटाने संबंधित एक संस्था के प्रमुख है
डा.गुड्डू कहते है कि पूरे देश में 800 विश्वविद्यालय है इस में केवल दो ही विश्वविद्यालय अक़लियती है एक जामिया विश्वविद्यालय और दुसरा अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय. यहाँ के चुने हुए प्रतिनिधि देश भर मुसलमानों दलीतो और पिछड़ा समाज का प्रतिनिधित्व करेंगे.
सत्यप्रकाश मिश्रा कहतेहैं कि डा. गुड्डू अगर चुनाव जित जाते है तो विश्व मे जामिया विश्वविद्यालय कि पहचान होगी सगीर नजम उर्फ डा गुड्डू को मैने देखा है कि जामिया विश्वविद्यालय के अक़लियती किरदार कि लड़ाई बहुत सुझ बुझ से लड़ी है मलूम हो ये वही सत्यप्रकाश मिश्रा हैं जिन्होंने कहा था कि जामिया विश्वविद्यालय को अक़लियती किरदार का दर्जा नहीं मिला तो आत्मदाह कर लुंगा.