बारिश की चेतावनी, यूपी-उत्तराखंड में चीन ने जारी किया ब्रह्मपुत्र नदी में बाढ़ का अलर्ट

23

मौसम विभाग ने उत्तराखंड में अगले तीन दिन और पूर्वी उत्तर प्रदेश में अगले 24 घंटे के दौरान भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। वहीं अरुणाचल प्रदेश के सांसद निनॉन्ग एरिंग ने गुरुवार को कहा कि चीन ने सांगपो (ब्रह्मपुत्र) नदी में बढ़ते जलस्तर को लेकर भारत को सतर्क किया है। निचले इलाकों में बाढ़ आने की संभावना को देखते हुए चीन ने यह अलर्ट जारी किया है।

उत्तराखंड में मौसम विभाग की चेतावनी
उत्तराखंड मौसम विज्ञान केंद्र ने इस दौरान पर्वतीय मोटर मार्गों पर यात्रा न करने की सलाह दी है। कुमाऊं के मैदानी इलाकों में रहने वाले लोगों के लिये गाइडलाइन जारी की है कि दो और तीन सितंबर को बहुत सतर्क रहें और राज्य सरकार के प्रतिनिधियों से समन्वय बनाएं रखें।  मौसम केंद्र के अनुसार, राज्य में कई इलाकों में एक दिन में 115 से 204.4 एमएम तक बारिश हो सकती है।

मौसम विभाग ने एक से तीन सितंबर के लिये देहरादून, नैनीताल, चंपावत, यूएसनगर, चमोली, रुद्रप्रयाग और पौड़ी के लिये अलर्ट जारी किया है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने कहा कि जिनके पास अपने वाहन हैं और वे अगले तीन दिनों तक पर्वतीय रूट पर जाना चाहते हैं, उनके लिये गाइड लाइन है कि यात्रा से बचें। मैदानी इलाके, खासकर कुमाऊं क्षेत्र में लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। राजधानी में शुक्रवार को तेज बारिश होने की संभावना है। तापमान अधिकतम 31 डिग्री रहने का अनुमान है।

एक राज्य का एससी-एसटी को दूसरे राज्य में आरक्षण नहीं : सुप्रीम कोर्ट

चारधामों के लिये भी अलर्ट जारी
हेमकुंड के साथ ही चारधामों के लिये मौसम विज्ञान केंद्र ने चेतावनी जारी की है। मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार यहां के रूट पर भी भारी बारिश हो सकती है। इसलिये यात्रियों को सतर्क रहने की जरूरत है।

पूर्वी यूपी में भारी बारिश के आसार
उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हो रही बारिश के चलते कई नदियां उफनाई हुई हैं। बुलंदशहर में गंगा खतरे के निशान से 40 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है, जबकि मुरादाबाद में रामगंगा खतरे के निशान से 120 सेमी ऊपर है। लखीमपुर खीरी के पलियाकलां में शारदा नदी का जलस्तर 1 मीटर 80 सेमी ऊपर है। घाघरा नदी अयोध्या में खतरे के निशान से 40 सेमी, बाराबंकी के एल्गिनब्रिज पर 66 सेमी और बलिया के तुर्तीपार में 63 सेमी ऊपर बह रही है।

लोकसभा चुनाव 2019: बीजेपी बिहार में जदयू को दे सकती है 12 सीटें

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है। राज्य में मानसून सक्रिय है। बीते 24 घंटों के दौरान पूर्वी यूपी में कुछ स्थानों पर और पश्चिमी यूपी में अनेक स्थानों पर बारिश हुई। पूर्वी यूपी में कहीं-कहीं भारी बारिश भी हुई। राजधानी लखनऊ और आसपास के इलाके में गुरुवार दोपहर से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला देर रात तक जारी रहा।

चीन की चेतावनी
अरुणाचल प्रदेश के सांसद निनॉन्ग एरिंग ने गुरुवार को कहा कि चीन ने सांगपो नदी में बढ़ते जलस्तर को लेकर भारत को सतर्क किया है। निचले इलाकों में बाढ़ आने की संभावना को देखते हुए चीन ने यह अलर्ट जारी किया है। एरिंग ने बताया कि चीन में भारी बारिश के चलते सांगपो नदी में उफान के बाद बीजिंग ने भारत को अलर्ट जारी किया है। उन्होंने कहा, स्थानीय अधिकारियों ने मुझे बताया कि चीन सरकार ने भारत सरकार से कहा है कि अरुणाचल प्रदेश के हिस्सों में बाढ़ आने की आशंका है। हमने अलर्ट को गंभीरता से लिया है और लोगों को आगाह किया है। चीन के इस अलर्ट के बाद केंद्र सरकार ने अरुणाचल प्रदेश को भी सचेत कर दिया है। एरिंग ने कहा कि चीन में भारी बारिश होने के बाद उन्हें इस बात की जानकारी दी गई है।

शिवपाल ने रामगोपाल के पैर छूकर लिया आशीर्वाद, पर नहीं हुई बातचीत

केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि चीन की ओर से कहा गया है कि सांगपो नदी में पानी का लेवल 150 साल के सबसे बड़े स्तर पर है। यही कारण है कि चीन ब्रह्मपुत्र में पानी छोड़ सकता है। इसी के मद्देनजर चीन ने भारत के साथ सूचना साझा की है। अलर्ट के बाद ब्रह्मपुत्र नदी के आसपास के क्षेत्रों को अलर्ट पर रहने को कहा गया है। चीन सरकार की एक रिपोर्ट के अनुसार,  सांगपो/ब्रह्मपुत्र नदी में 9020 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। चीन में सांगपो के नाम से जानी जाने वाली इस नदी को अरुणाचल प्रदेश में सियांग तथा असम में ब्रह्मपुत्र कहा जाता है।